UK Board class 10th 12th Result 2023 analysis news updates overall result Inspiretohire

ऐप पर पढ़ें

उत्तराखंड स्कूली शिक्षा बोर्ड के नतीजे में फिर बेटियों का जलवा देखने को मिला। हाईस्कूल और इंटरमीडिएट दोनों में बेटियां बेटे आगे चल रही हैं। हाईस्कूल में छात्राओं का रिकॉर्ड 88.94 रहा। वहीं छात्र 81.48 प्रतिशत ही पास हुए। इंटरमीडिएट में 83.49 फीसदी छात्राएं और 78.48 फीसदी छात्र-छात्राओं ने परीक्षा पास की है।

सचिव डॉ. नीता तिवारी ने बताया कि 16 मार्च से छह अप्रैल तक बोर्ड की परीक्षाओं में हाईस्कूल में 64612 छात्र और 63232 होस्ट शामिल हुए। वहीं इंटरमीडिएट में 62076 छात्र परीक्षा में बैठे जबकि 61869 छात्राओं ने परीक्षा दी। उन्होंने बताया कि हर साल की तरह इस बार भी दोनों ही अटैचमेंट में आगे बढ़ रहे हैं।

हाईस्कूल में साल 2019 में छात्रों के बोलने का अनुपात 70.60, लड़कियों का बोलने का अनुपात 82.47 रहा। वर्ष 2020 में 71.39फीसदी छात्र हुए जबकि 82.65फीसदी विद्यार्थी सफल रहे। साल 2021 में 99.30 प्रतिशत छात्र और 98.86 प्रतिशत छात्र सफल हुए। साल 2022 में 84.6 प्रतिशत होस्ट और 71.12 प्रतिशत छात्र दिख रहे हैं। इस बार बेटियों का 88.94 प्रतिशत और बेटों का 81.48 प्रतिशत रहा है।

वहीं इंटरमीडिएट में वर्ष 2019 में 76.29 प्रतिशत छात्र, 83.79 प्रतिशत छात्रावास, तो वर्ष 2020 में 76.68 प्रतिशत छात्र और 83.63 प्रतिशत छात्र पकड़े गए। वर्ष 2021 में 99.41 प्रतिशत छात्र और 99.71 प्रतिशत होस्टेड तो वर्ष 2022 में 79.74 प्रतिशत छात्र और 85.38 प्रतिशत होस्टेड होते हैं। इस साल इंटरमीडिएट में छात्राओं का 83.49 प्रतिशत रहा है। जबकि छात्र 78.48 फीसदी पास हुए।

व्यक्तिगत परीक्षा में भी होस्ट आगे

  • व्यक्तिगत परीक्षा में हाईस्कूल में छात्राओं का 68.88 प्रतिशत रहा है, जबकि छात्र 48.47 प्रतिशत ही उत्तीर्ण हुए हैं। वहीं इंटरमीडिएट में छात्रों का मामला 59.33 रहा है। जबकि छात्राओं का रिकॉर्ड 71.23 रहा है।

परीक्षा पास करने वाले सभी छात्रों को ढेर सारी शुभकामनाएँ। हाईस्कूल और इंटरमीडिएट में होस्ट आगे बढ़ रहे हैं। इंटरमीडिएट के रिकॉर्ड के प्रतिशत में कमी आई है। इसे ठीक करने के लिए कहा गया है। परीक्षाफल जारी करने के लिए बोर्ड के अधिकारी कर्मचारियों ने कड़ी मेहनत की है।– सीमा जौनसारी, निदेशक माध्यमिक शिक्षा।

Leave a Comment