UPSC Prelims 2024: officer who cracked UPSC CSE IAS Pre exam 7 times shared 10 biggest things-Inspire To Hire


ऐप पर पढ़ें

यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा में हर साल करीब 9 से 10 लाख अभ्यर्थी प्रारंभिक परीक्षा में बैठते हैं लेकिन इनमें से सिर्फ 15 हजार के आसपास ही मुख्य परीक्षा के लिए क्वालिफाई कर पाते हैं। कइयों से तो कई अटेम्प्ट के बाद भी एक बार भी प्रीलिम्स नहीं निकलता। जबकि बहुत से अभ्यर्थी ऐसे होते हैं जो पिछले प्रयासों में इंटरव्यू व मेन्स तक पहुंचने के बावजूद प्रीलिम्स में मात खा जाते हैं। 7 बार यूपीएससी सिविल सर्विसेज प्रीलिम्स एग्जाम क्लियर करने वाले कुणाल आर. विरुलकर ने वो 10 टिप्स शेयर किए हैं जिन्हें अपनाकर आप यूपीएससी सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा में अपनी सुफलता सुनिश्चित करेंगे। 

दिए ये 10 टिप्स

कुणाल आर. विरुलकर ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर ट्वीट कर लिखा, ‘यूपीएससी सीएसई 2024 प्री के लिए 10 चीजें, जो आपको जरूर करनी चाहिए। 

1. यूपीएससी सीएसई प्री सिलेबस को अच्छी तरह से पढ़ें।

2. यूपीएससी सिविल सर्विसेज एग्जाम के लिए प्रासंगिक बुनियादी किताबें पढ़ें। एनसीईआरटी, स्पेक्ट्रम, लक्ष्मीकांत की किताब जरूर पढ़ें।

3. बहुत अधिक करेंट अफेयर्स मैगजीन न पढ़ें। केवल एक पढ़ें।

4. योजना पत्रिका को नजरअंदाज न करें।

5. पिछले वर्षों के सभी प्रश्नपत्रों को हल करें।

6. कोचिंग क्लासेज की टेस्ट सीरीज को हल करने का प्रयास करें।

7. यदि संभव हो तो एक स्टडी ग्रुप बनाएं। ग्रुप स्टडी से तैयारी में बहुत मदद मिलती है।

8. रिविजन, रिविजन और रिविजन ही सर्वोत्तम मंत्र है.

9. सीसैट को नजरअंदाज न करें और कम से कम पिछले वर्ष के सभी प्रश्नपत्रों को हल करें।

10. यूपीएससी सीएसई परीक्षा के लिए यूट्यूब के मुफ्त वीडियो का लाभ उठाएं। 

सभी को शुभकामनाएं और अच्छे से पढ़ाई करें

UPSC CSE : यूपीएससी में बार-बार हो रहे हैं फेल तो क्या करें, चौथी बार में IRS बने अफसर ने बताया

इससे पहले उन्होंने एक ट्वीट में कहा था, ‘उम्मीदवार यूपीएससी प्रारंभिक परीक्षा में असफल क्यों हो जाते हैं? इसका एक महत्वपूर्ण कारण यह है कि अभ्यर्थी सभी प्रश्न पढ़ने के बाद ओएमआर शीट भरते हैं। ऐसी स्थिति में समय की कमी के कारण अभ्यर्थी ओएमआर शीट में गलत गोले (उदाहरण के लिए- प्रश्न संख्या 40 के उत्तर के लिए अभ्यर्थी उत्तर संख्या 41 भर दते हैं) भर सकते हैं । ऐसी बचकाना गलतियों से बचने के लिए मेरा सुझाव यह है कि प्रश्नों को पढ़ने के बाद गोलों को भरें। गोला भरने के बाद उस प्रश्न को भूल जाएं। यह तरीका प्रारंभिक परीक्षा में प्रश्नों को करते समय आपकी मैन्युअल त्रुटियों को कम कर सकता है। इस मेथड को एक्सपेरिमेंट बेसिस पर मॉक टेस्ट हल करने में आजमाएं।’

महाराष्ट्र के कुणाल आर. विरुलकर ने हाल में यूपीएससी सिविल सर्विसेज एग्जाम का अपना 11वां अटेम्प्ट दिया। उन्होंने 7वीं बार मेन्स एग्जाम दिया। इससे पहले के 10 अटेंप्ट में वह 6 मेन्स एग्जाम और 4 इंटरव्यू दे चुके हैं। 

यूपीएससी भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस), भारतीय विदेश सेवा (आईएफएस) , भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस), भारतीय राजस्व सेवा (आईआरएस) समेत की तरह की सिविल सेवओं के लिए अधिकारियों का चयन करने के लिए प्रतिवर्ष तीन चरणों में प्रारंभिक, मुख्य और साक्षात्कार सिविल सेवा परीक्षा आयोजित कराती है। 


Leave a Comment